लौंग का पेड़

updated on February 18th, 2018 at 10:18 pm

आपने अभी तक लौंग का पेड़ के औषधीय गुणों के बारे में पढ़ा होगा लेकिन आज मैं आपको कुछ ऐसा बताने जा जा रहे हैं  जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगें, आपको बताने जा रहे हैं लौंग के पेड़ के बारे में, यदि आप खुद को समझदार साबित करना चाहते हैं, तो आपको लौंग के पेड़ के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी तो होनी ही चाहिए

लौंग के पेड कहां पाया जाता है और कितने साल जीता है

लौंग का पेड़ दक्षिण पूर्वी एशिया के देश इंडोनेशिया में पाया जाता है, मलक्‍का द्वीप समूह ही इस लौंग के पेड़ की प्राचीन जन्‍मभूमि है, लौंग के पेड़ की लंबाई 10–12 मीटर तक होती है, इसकी पत्तियां बड़ी और गोल होती हैं, लौंग का पेड़ लगभग 8 – 10 साल की उम्र में फल देना शुरू करता है, जब लौंग का पेड़ फूल देने पर आता है, तब इसमें गुच्‍छों में कलियां आती हैं, जिनका खिलते समय रंग पीला होता है, जो कुछ समय बाद हरा हो जाता है

लेकिन जब फूल खिल जाते हैं, तो इन कलियों का रंग लाल हो जाता है, लौंग का पेड़ आश्‍चर्यजनक रूप से 400 साल या उससे भी अधिक समय के लिए जिंदा रह सकता है, इससे कहा जा सकता है कि लौंग के पेड़ की उम्र 400 साल की होती है, यह पेड़ एक बार उगने के बाद जीवन भर हमें लौंग जैसी बहुमूल्‍य औषधि देता रहता है,

किन किन देशों में उगता है लौंग का पेड़

नई जॉब्स के ताज़ा जानकारी के लिए हमारे चैनल को सब्सक्राइब (Subscribe) करें: Youtube Channel

लौंग का पेड़ वैसे तो इंडोनेशिया के मलक्‍का द्धीप समूह का मूल निवासी है लेकिन प्राचीन काल में लौंग के पेड़ की खोज 3 ईसा पूर्व चीन ने की थी, तब चीन के लोगों ने लौंग के पेड़ की अहमियत समझी और इसे पूरी दुनिया में फैलाया, आज जंजीबार दुनिया में सबसे ज्‍यादा लौंग उत्‍पादन करने वाला देश है, इसके अलावा लौंग का पेड़, भारत, श्रीलंका, पाकिस्‍तान आदि में लौंग का उत्‍पादन होता है

यह पढ़े:
भारत की पहली महिला ट्रेन ड्राइवर
उर्वशी रौतेला जीवनी

Similar Posts

Leave a Reply