updated on May 17th, 2020 at 11:31 pm

हिन्दी लव शायरी

तुम भी शबनम छूकर देखो
कुछ हाथ आए तो बताना,
चमक कितनी रह गयी है बाकी
आफ़ताब सो जाए तो बताना ।

एक अजीब सा दौर गुजरा था जिंदगी में
महफिल थी मुझसे और तन्हा भी मैं था

…………..By हिमांशु श्रीवास्तव

Similar Posts

Leave a Reply