सेल्फी कल्चर

पूरी दुनिया में आज सेल्‍फी का बोलबाला है। आज बाजार में ऐसा कोई स्‍मार्टफोन नहीं है, जिसमें सेल्‍फी के लिए फ्रंट कैमरा न दिया गया हो। वैसे तो फोटो पहले भी खींचे जाते रहे हैं और उन्‍हें सोशल मीडिया साइट पर भी शेयर किया जाता रहा है। लेकिन वह सारे फोटो पीछे के कैमरे से खींचे जाते थे। मतलब इस तरह के फोटो खींचनें के लिए रियर कैमरा इस्‍तेमाल किया जाता था। लेकिन समय के साथ तकनीक उन्‍नत हुई और स्‍मार्टफोन निर्माता कंपनियों ने अपने स्‍मार्टफोन में फ्रंट कैमरा देना शुरू कर दिया।

सेल्फी कल्चर

स्‍मार्टफोन में मौजूद इस फ्रंट कैमरे का सबसे ज्‍यादा लाभ फिल्‍म इंडस्‍ट्री से जुड़ी हुईं, हस्तियों ने उठाया। उन्‍होंनें फ्रंट कैमरे से खींचीं गई अपनी फोटो को सोशल मीडिया जैसे प्‍लेटफार्म पर शेयर करना शुरू कर दिया। सेलेब्‍स की ऐसी तस्‍वीरों ने पूरी दुनिया का ध्‍यान अपनी ओर खींचा और रातों रात उनके फैंस की संख्‍या में इजाफा होने लगा।

भारत में सेलेब्‍स ने ही सेल्‍फी कल्‍चर को जन्‍म दिया व लोकप्रिय भी बनाया

भारत में हिंदी फिल्‍म इंडस्‍ट्री से जुड़े अभिनेताओं और अभिनेत्रियों ने अपनी खींची गईं सेल्‍फी को जब से सोशल मीडिया पर शेयर करना शुरू किया है। तब से पूरे देश में सेल्‍फी का क्रेज बहुत बढ़ गया है। आज हर कोई अपने स्‍मार्टफोन से सेल्‍फी लेकर फेसबुक और टिवटर पर डाल कर सबका ध्‍यान अपनी ओर खींचना चाहता है।

लेकिन कभी आपने सोचा है कि आज के नौजवानों में सेल्‍फी के प्रति ललक और दीवानगी क्‍यों है? क्‍यों लोग एक अदद सेल्‍फी की खातिर अपनी जान तक दांव पर लगा देते हैं?

असल में इन दोनों सवालों के जवाब देश और दुनिया के सेलेब्‍स के पास ही हैं। सेलेब्‍स के कारण ही सेल्‍फी पूरी दुनिया में लोकप्रिय हुई है। यदि सेलेब्‍स सेल्‍फी को इतना ग्‍लैमरस रूप नहीं देते तो आज हमारे स्‍मार्टफोन का फ्रंट कैमरा भी साधारण कैमरा ही होता।

क्‍या पूरी दुनिया के सेलेब्‍स अपनी सेल्‍फी का व्‍यावसायिक इस्‍तेमाल करते हैं?

सेल्फी कल्चर

दुनिया भर के आम लोगों की सेल्‍फी और सेलेब्‍स के द्धारा खींची गई सेल्‍फी में बहुत बड़ा फर्क होता है। सेलेब्‍स अपनी सेल्‍फी को अपने व्‍यवसाय व अपनी लोकप्रियता को बढ़ाने के लिए सेल्‍फी लेते हैं और सोशल मीडिया पर डालते हैं। जिससे उनके द्धारा खींची गई सेल्‍फी रातों रात वायरल हो जाती है। इस तरह की सेल्‍फी का इस्‍तेमाल सेलेब्‍स अपनी लोकप्रियता को बढ़ाने व अपने व्‍यवसाय को ऊंचाइयों पर पहुंचाने के लिए करते है। वहीं दूसरी ओर आम लोग अपनी सेल्‍फी का व्‍यावसायिक इस्‍तेमाल नहीं कर पाते हैं। सेल्‍फी जहां सेलेब्‍स के लिए एक व्‍यावसायिक रणनीति का हिस्‍सा होती है। वहीं आम लोग बस अपनी लोकप्रियता बढ़ाने के लिए सेल्‍फी लेते हैं और उसे सोशल मीडिया पर डालते हैं। ताकि वह आम लोगों के कुछ अलग हट कर नजर आएं।

दूसरों से अलग दिखने की चाहत में आम लोग सेल्‍फी हासिल करने के लिए खतरनाक तरीके भी अपनाते हैं। जबकि उन्‍हें ऐसा नहीं करना चाहिए। क्‍योंकि सेल्‍फी से आम लोगों को कुछ हासिल नहीं होता। लेकिन से‍लेब्‍स जिन्‍हें पूरी दुनिया में सेल्‍फी कल्‍चर का जनक माना जाता है। वह अपने व्‍यवसायिक उददेश्‍य पूरे कर पाते हैं। सेलेब्‍स का सेल्‍फी लेकर सोशल मीडिया पर डालने मकसद सिर्फ दुनिया भर के फैंस से अपनी कनेक्टिविटी को बनाए रखना होता है। सेलेब्‍स जानते हैं कि वह जितने ज्‍यादा लोगों को अपने लुक और सुंदरता से प्रभावित कर पाएंगें, उतना ही उन्‍हें व्‍यवसायिक लाभ होगा।

यह पढ़े:

Similar Posts

Leave a Reply