hindi shayari

हिन्दी शायरी

मैंने तुझे अपनी आदत बनाई है..
और माँ कहती है अच्छी आदत बदलनी नहीं चाहिए।

तुम थक तो नहीं जाओगे इन्तेजार में तब तक,
मैं मांग के आऊं खुदा से तुम को जब तक…

फिर कभी सुलझाएंगे जिंदगी के मसले भाई
मसरूफ हैं अभी ईयर-फोन सुलझाने में..

यह भी पढ़ें :रिलांयस जियो धन धना धन ऑफर

नाम तेरा ऐसे लिख चुके है अपने वजूद पर..
कि तेरे नाम का भी कोई मिल जाए तो भी दिल धड़क जाता है।..

मैंने इज़हार तो किया ही नहीं..
जरूर उसने आँखों को पढ़ लिया होगा।..

यह भी पढ़ें : कपल्स को देखकर सिंगल लड़कियां क्या सोचती हैं?

ना जाने कोई क्यूँ मिलता है..
जब के उसे मिलना ही नही होता।..

…………..By Bhanesh Aswal

Kya Khayal Hai Aapka??

पिछली स्लाइड1 of 2

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *